iPhone हैंग क्यों नहीं करता? - Help4u

Tuesday, 12 February 2019

iPhone हैंग क्यों नहीं करता?


iPhone हैंग क्यों नहीं करता?


ऐसा नहीं है कि iPhone हैंग कभी भी नहीं करता है लेकिन बाकी प्लेटफार्मों (जैसे Android ) की तुलना में यह बहुत कम है।
चूँकि यह विषय तकनीकी है इसलिए पहले मैं कुछ शब्दों से आपको रुबरु कराना चाहूँगा –

UI रेंडरिंग - Mobile  ग्राफिक्स प्रोसेसिंग यूनिट का प्राथमिक कार्य स्क्रीन पर डेटा को Process करना है और इसे ही मोटे तौर पर रेंडरिंग कहते हैं |
iPhone हैंग क्यों नहीं करता?

थ्रेड (Thread) - जब भी किसी Application  को Android में लॉन्च किया जाता है, तो यह निष्पादन (execution) का पहला थ्रेड बनाता है, जिसे "मुख्य" थ्रेड के रूप में जाना जाता है। मुख्य या main thread एक वाहक है जो सभी इवेंट्स को UI पर भेजता है और सभी इलेक्ट्रॉनिक कलपुर्जों के साथ संचार व्यस्था स्थापित करता है|
चलिए पहले Android की बात कर लेते है -

Android क्यों हैंग करता है


यदि हम Android 3.0 मतलब हनीकांब की बात करे तो उस समय UI ( User Interface ) में Hardware Acceleration नहीं होता था मतलब धीमा Process और हैंग की समस्या | पर हम आज की बात करें तो IOS की अपेक्षा Android में अधिक RAM होता है (2 GB से अधिक ) तब इस समय क्या समस्या हो सकती है |

इसके मुख्य कारण हैं -


• UI रेंडरिंग को Android में नार्मल यानि कि सामान्य सी प्राथमिकता दी जाती है (IOS की अपेक्षा ) |
• UI रेंडरिंग, मुख्य थ्रेड का प्रयोग कर के की जाती है | इसका मतलब इस समय Background में आपके सभी Process चालू ही रहेंगे जिसके कारण लैग होगा |

यदि आपके पास कोई Quad Core या Octa Core Processor भी हो तब भी ऊपर बताये गए 2 कारणों की वजह से ऐसा होता है |

पर यह बात अगर सबको पता है, तो फिर इस प्रकार के Android UI का मूलभूत ढांचा ही क्यों न बदल दिया जाये जिससे यह समस्या न आये | पर यह इतना आसान नहीं है क्योंकि इसके लिए सभी Android Apps की दोबारा से Coding करनी पड़ेगी | आज के समय में करोड़ों Android Apps हैं और हर दिन नए आते जा रहे हैं इसलिए यह बहुत ही मुश्किल है |

कुछ अन्य कारण Iphone हैंग नहीं होने के  –


• हेवी ऐप्स Android फोन के Processor और आंतरिक (internal) memory पर बहुत दबाव डालते है जिसमें प्री-लोडेड ब्लोटवेयर भी शामिल है |
• विजेट और अनावश्यक विशेषताएं Android System  में मौजूद रहती हैं |
• चूँकि Android में इंटरनल और एक्सटर्नल memory होती है और बहुत से उपयोगकर्ता सभी वस्तुओं को सेव करने के लिए internal memory का ही प्रयोग करते हैं | इसलिए समय के साथ साथ यह लैग करने लगता है|
• एक साथ बहुत सारे ऐप्प्स Background में खुले रखना खासकर गेम्स, ब्राउज़र और Facebook |
• असत्यापित स्रोत से ऐप्प्स डाउनलोड |
• समय समय Software अपडेट न करना |

Alos Read:-

iOS क्यों हैंग नहीं करता है


अब देखिये  iPhone ने चीज़ों को कैसे बदल दिया है –

iPhone ने UI रेंडरिंग के लिए एक अलग ही (समर्पित) थ्रेड दे दिया है | इसका मुख्य थ्रेड से कोई मतलब नहीं है | इससे Background में चलने वाले Process भी मक्खन जैसे चलते हैं |

• UI रेंडरिंग को यहाँ पर उच्च प्राथमिकता दी जाती है |
• यह CPU और GPU की मिली हुई शक्ति को UI interphase संभालने के लिए भेजता है | इसका परिणाम कम लैग |
• सही Software और Hardware का एकीकरण |
• त्वरित इंटरनल फ़्लैश Storage का प्रयोग |फोन संसाधनों का अत्यधिक उपयोग करने वाले ऐप्स के लिए सख्त प्रतिबंध का प्रावधान |
• Android की अपेक्षा बेहतर सुरक्षा और कम से कम खामियां।
• प्री-लोडेड ब्लोटवेयर की कोई जगह नहीं |
• थर्ड पार्टी ऐप्प्स न के बराबर जिससे Virus या स्पाईवेयर की कोई समस्या नहीं |

Android के लिए क्या करें जिससे वह हैंग न हो |


• जब आप एक ही समय पर कई सारे Application चलाते हैं, तो आपका Mobile स्वचालित रूप से हैंग हो जाता है । एक बार में एक ही Application का प्रयोग सुनिश्चित करें वरना आपका Mobile  गर्म होकर हैंग होने लगेगा |
• समय समय पर internal memory से अनावश्यक Application, फ़ोटो या वीडियो को हटाना सुनिश्चित करें।
• सभी Application, वीडियो और फोटो को memory कार्ड (एसडी कार्ड) में सेव करें न कि internal memory में |
• Install किए गए कई Application   को एक्सटर्नल memory में ले जाएं | इसके लिए ऐप्प्स भी आते हैं|
• अपनी फ़ाइलों को प्रबंधित करें और अनावश्यक फ़ाइलों, कुकीज और cache आदि को समय समय पर हटाना याद रखें। cc cleaner का उपयोग कर सकते हैं |
• बीच बीच में खुले हुए Application को पूरी तरह बंद करें |
• Software को नियमित रूप से अपडेट करते रहें |
• अपने फोन के specs को समझें, जैसे मेरे फ़ोन में क्या Processor है और RAM कितनी है | उसी के हिसाब से ऐप्प्स और गेम्स installed करें |

No comments:

Post a Comment