माउस क्या है ? Mouse full form in Hindi 

हेल्लो दोस्तों आज के इस पोस्ट माउस क्या है ? Mouse full form in Hindi के बारे में जानेगे हममें से ज्यादातर लोग कंप्यूटर का इस्तेमाल करते है, तो आपको भी पता है कि माउस का फुल फॉर्म क्या होती है ?,   Mouse के कितने प्रकार होते है ?, और माउस कैसे काम करता है ? और माउस को हिंदी में क्या कहते है ? अगर आप भी माउस के बारे में ज्यादा जानना चाहते है तो इस पोस्ट के माध्यम से आप माउस के बारे में सारी जानकरी यही मिल जाएगी आपको अब किसी और वेबसाइट पर जाने की जरूरत है। 


कंप्यूटर में दूसरी सभी डिवाइस जैसे मॉनीटर, कीबोर्ड, स्पीकर आदि होते हुए भी कंप्यूटर में माउस का अपना ही एक अलग दर्जा है, माउस एक तरह से सभी चीजों को स्क्रीन पर कण्ट्रोल करता है, तो माउस को खरीदने से पहले आपको इसके बारे में जान लेना चाइये।

आपको तो पता ही होगा की कंप्यूटर में सबसे जरुरी चीज माउस है, अगर आपको नहीं पता था तो पता चल ही गया आज क्युकी माउस कंप्यूटर की स्क्रीन पर होने वाली सभी गति विधियों को माउस के द्वारा ही कण्ट्रोल किया जा है।

आपको यहां ये भी जान लेना चाइये की माउस कितने प्रकार के होते है और आपको किस माउस की ज्यादा जरूरत पढ़ने वाली है, क्युकी टेक्नोलॉजी बहुत आगे तक जा चुकी है आज के टाइम में माउस के बहुत से प्रकार मार्केट में उपलब्ध है, आपको अपनी जरूरत के हिसाब से माउस को चुनना जरुरी है।


आज इस पोस्ट के माध्यम से आपको से आपको माउस कितने प्रकार के होते है और माउस क्या है और बहुत सारी जानकरी आपको मिलगी देर किस बात की चलिए शुरू करते है।



माउस क्या है? What is Mouse in Hindi 



माउस एक इनपुट डिवाइस है। इसका वास्तिविक नाम पॉइंटिंग डिवाइस है इसका इस्तेमाल कंप्यूटर या PC में कंप्यूटर स्क्रीन पर दिख रहे आइटम को चुनने उसकी तरफ जाने तथा फंक्शन को खोलने और बंद करने के लिए किया जाता है। Mouse के द्वारा यूजर कंप्यूटर को निर्देश देता है, इसके द्वारा यूजर कंप्यूटर स्क्रीन  पर कही भी पहुंच जा सकता है।

सादारण कंप्यूटर माउस चित्र 

एक सादारण Mouse में आम तौर पर तीन बटन होते है, जैसा ऊपर चित्र में दिखाया गया है, पहला तथा Primary Button ( Left Button ), तथा Secondary Button ( Right Button ) के नाम से जानते है।

इनको आम भाषा में Left Click और Right Click कहते है, और तीसरे Button को Scroll Wheel या फिरकी भी कहते है, आधुनिक Mouse में तीन Button से ज्यादा Button आने लगे है।

माउस के इंटरफ़ेस अलग - अलग होते है, यानि की वो कंप्यूटर या दूसरे के साथ जुड़ने के लिए जो माध्यम होते है, तो चलिए आपको माउस के बारे में और जानकारी देते है।

माउस का फुल फॉर्म क्या है ? Mouse full form in Hindi 

Mouse Full Form in English :- Manually Operated User Selection Equipment.
Mouse फुल फॉर्म हिंदी में :- मैन्युअल रूप से संचालित उपयोगकर्ता चयन उपकरण।

माउस को और किस नाम से जाना जाता है ?

माउस को "Pointer" के नाम से भी जाना जाता है। 

माउस की परिभाषा 

माउस एक छोटा सा पॉइंटिंग डिवाइस है, जिसे एक कंप्यूटर यूजर इस डिवाइस का उपयोग करते है, इस डिवाइस को टेबल पर रख कर इसका इस्तेमाल किया जा सकता है। अगर हम इसे आसान भाषा में कहे तो माउस एक इनपुट डिवाइस है। इसकी मदद से कंप्यूटर स्क्रीन पर Point, Select, Drag, Drop, Click और स्क्रॉल किया जाता है।  

माउस का अविष्कार कब हुआ ?

Douglas Engelbert ने सन्न 1960 में कंप्यूटर के माउस का अविष्कार किया था, Douglas Engelbert ने तब माउस को लकड़ी का बनाया था। माउस को originally X-Y Position Indicator कहा जाता है। 

माउस में पहले से लेकर अब तक इसमें कहीं सारे Modification होते गए और आज हमारे हाथ में Pointer को नियंत्रित करने के लिए कई प्रकार के माउस उपलब्ध है। 

माउस के प्रकार 

आज के समय में माउस के कई प्रकार के माउस उपलब्ध है, इन सब माउस में कुछ न कुछ अलग टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल किया गया है, जो की एक दूसरे को उनके फंक्शन को अलग अलग करते है। तो आइये जानते है माउस कितने प्रकार के होते है।

  • Mechanical Mouse 
  • Optical Mouse 
  • Wireless Mouse
  • Trackball Mouse
  • Stylus Mouse

 Mechanical Mouse :- 

इस माउस का आविष्कार सन्न 1972 में Bill English ने किया था, इसमें एक Ball और बहुत सारे Rollers होते है, मूवमेंट को ट्रैक करने के लिए.

इस प्रकार के माउस ज्यादा पॉपुलर नहीं होते है क्युकी इस प्रकार के माउस में Mouse typically corded variety के होते है। 

Mechanical Mouse की दक्षता बहुत ही ज्यादा होती है लेकिन Mechanical Mouse को बहुत ही ज्यादा साफ सफाई की आवश्कता पड़ती है। 


Optical Mouse :- 

Optical Mouse में LED यानि Light Emitting Diode तथा DSP यानि Digital Signal Processing तकनीक पर कार्य करता है. इस माउस में Mechanical Mouse की तरह Ball नहीं लगी रहती है. इसकी जगह पर एक छोटा सा ब्लब लगा होता है।

इसलिए माउस को हिलाने पर स्क्रीन पर पॉइंट हलचल करता है, तथा इस पर मौजूद बटन से हम कंप्यूटर को निर्देश देते है. आज कल Optical Mouse का ही उपयोग ज्यादा हो रहा है।

Optical Mouse को एक तार के द्वारा कंप्यूटर से जोड़ा जाता है. जिससे माउस को जरुरी बिजली की आपूर्ति हो जाती है. इस Tpye के माउस इस्तेमाल करने में आसानी होती है।

Wireless Mouse :- 

जैसा की नाम से ही प्रतीत होता है यानि ऐसे माउस जिसमे किसी भी तरह का वायर नहीं लगा होता है उन्हें Wireless Mouse कहते है. इसे Cordless Mouse भी कहते है। इस प्रकार के माउस Radio Frequency की तकनीक पर आधारित है. Wireless Mouse की बनावट लगभग Optical Mouse की तरह ही होती है। 

इसलिए Wireless Mouse के उपयोग के लिए Transmitter तथा Receiver की जरूरत पड़ती है. Transmitter तो Mouse के अंदर ही लगा होता है, पर Wireless Mouse को कंप्यूटर को कनेक्ट करने के लिए Receiver को कंप्यूटर में लगाया जाता है। 

Wireless Mouse को चलाने के लिए बैटरी की जरूरत होती है. इसलिए इसके अंदर एक छोटी सी बैटरी लगी होती है जिससे इस Mouse को करंट की पूर्ति पूरी हो सके. बैटरी होने की वजह से इस माउस में थोडा वजन भी होता है। 

Trackball Mouse :- 

इस माउस की बनावट कुछ Optical Mouse की तरह ही होती है. लेकिन इसे नियंत्रण करने के लिए Trackball का इस्तेमाल किया जाता है। 

Trackball Mouse से कंप्यूटर को निर्देश देने के लिए यूजर को उंगली की सहायता से इसमें लगे Ball को घूमाना पड़ता पड़ता है, इस माउस में बाकि माउस जैसा नियत्रण नहीं कर पते है. जिसकी वजह से इसको चलाने के लिए काफी समय भी लगता है। 

Stylus Mouse :- 

Stylus Mouse को gStick Mouse भी कहा जाता है, क्यूंकि इस माउस का अविष्कार Gordan Stewart नई किया था, इसलिए इसके "g" का मतलब Gordan होता है। 

यह माउस पेन की तरह दिखाई देता है, जिसमे एक Wheel भी होता है, इस Wheel ऊपर निचे किया जा सकता है. इस प्रकार के माउस का उपयोग Touch Screen डिवाइस के लिए किया जाता है। 

माउस के प्रकार हिंदी में 

आपको मेने अभी ऊपर सभी प्रकार के माउस के बारे में बताया है अब में आपको इन माउस को हिंदी में क्या कहते है इसके बारे में बताता हूँ। 
  • मेकेनिकल माउस ( Mechanical Mouse )
  • ऑप्टिकल माउस ( Optical Mouse )
  • वायरलेस माउस ( Wireless Mouse )
  • ट्रैकबॉल माउस ( Trackball Mouse )
  • स्टाइलस माउस ( Stylus Mouse ) 

माउस द्वारा होने वाले कार्य - Function of Mouse in computer 

माउस द्वारा कंप्यूटर में विभिन्न प्रकार के कार्य किये जाते है. माउस की सहायता से हम कंप्यूटर स्क्रीन पर किसी भी फाइल को इदर - उदर कर सकते है, किसी फाइल या आइकॉन को सेलेक्ट कर सकते है. इससे फाइल को कही भी जगह फोल्डर में पहुंचाने के लिए किया जाता है। 

लेकिन यह सब कार्य माउस से कैसे होता है? इन्हे करने के लिए माउस कुछ क्रिया करता है. वह क्रिया क्या है. इन्हे कैसे किया जाता है। आइये जानते है....

1. Pointing  

जब कर्सर को कंप्यूटर की स्क्रीन पर उपलब्ध किसी फाइल की तरह ले जाया जाता है तो और पॉइंटर उस फाइल को छूता है तो एक बॉक्स नजर आने लगता है जो उस फाइल के बारे में बताता है. इस सम्पूर्ण क्रिया को "Pointing" कहते है। अभी जो क्रिया हुई इसे Hovering के नाम से भी जाना जाता है। 

2. Selecting 

कंप्यूटर स्क्रीन पर फाइल को Pointing के बाद माउस को एक बार लेफ्ट क्लिक दबाने पर वह फाइल Select हो जाती है. इसे Selecting कहते है। जब फाइल को Select करते है तो उस फाइल के आसपास एक वर्ग होता है. इससे पता चलता है की वो फाइल Select हुई है। 

3. Clicking 

माउस पर बटन को click करके वापस छोड़ देने पर जो क्रिया हुई इसे Clicking कहते है। Click दो प्रकार के होते है। तो आइये जानते है....

1. Left Click :- माउस के Left Click को दबाना Left Click कहलाता है। ये मुख्यतः निम्न प्रकार के होते है
  • Single Click
  • Double Click 
  • Triple Click
2. Right Click :- माउस के Right Click को दबाना Right Click कहलाता है. किसी फाइल पर Right Click करने से उस फाइल से संबंधित फाइल की लिस्ट ओपन हो जाती है।

4. Dragging and Dropping

Dragging and Dropping में माउस के द्वारा कंप्यूटर में उपलब्ध किसी भी किसी भी तरह की फाइल या आइटम को एक स्थान से दूसरे स्थान पर रखा जा सकता है। इसके लिए माउस की Dragging and Dropping क्रिया का प्रयोग किया जाता है।

5. Scrolling 

माउस Wheel द्वारा किसी भी Webpage को ऊपर निचे सरकाना Scrolling कहलाता है। ऊपर की तरफ सरकाने के लिए Wheel को अपनी तरफ गुमाना पड़ता है, और निचे की और सरकाने के लिए बाहर की तरफ गुमाना पड़ता है।

अन्य भाषा में माउस :-

कुछ अन्य भाषा में माउस शब्द निचे दिए गए है।
Hindi :- माउस
Bengali :- মাউস
Gujarati :- માઉસ
Kannada :- ಇಲಿ
Marathi :- माऊस

माउस से जुड़े कुछ दिलचस्प जानकरी 

जिस समय 1960 में Douglas Engelbert ने माउस का अविष्कार किया था, उस टाइम बड़े बड़े कमरों में कंप्यूटर होते थे, इन कंप्यूटर में पंच कार्ड से Data भरा जाता था। 

सन्न 1963 में Bill English ने Douglas के स्कैच के आधार पर लकड़ी का माउस बनाया था जिसको चलाने के लिए दो पहियों का इस्तेमाल किया गया था।

शुरुआत में माउस को बग नाम से जाना जाता था. इसे माउस का नाम इसलिए दिया गया क्युकी Stanford Research Institute में विकसित किये गए माउस की आकृति बिलकुल चूहे जैसी थी।

माइक्रोसॉफ्ट ने सन्न 1983 में पहली बार माउस की बिक्री की थी।

सन्न 2004 में Logitech Company ने पहला लेजर माउस बाजार में उतरा था। इस माउस की स्पीड Optical Mouse से 20 गुना थी।

माउस की स्पीड को मिकी यूनिट में गिना जाता है। एक मिकी एक इंच का 200 वा हिस्सा होता है।


दोस्तों आपने क्या सीखा :- 

मुझे उम्मीद है की आपको हमारा पोस्ट माउस क्या है ? Mouse full form in Hindi आपको अच्छा लगा होगा। इस पोस्ट में मेने आपको बताया है, माउस कितने प्रकार के होते है, माउस का अविष्कार कब था। और भी बहुत साडी Information हमने आपको इस पोस्ट में दी है।

अगर आपको इस पोस्ट माउस क्या है ? Mouse full form in Hindi के बारे में कोई सुझाव हो तो आप हमें कमेंट बॉक्स में अपने कीमती सुझाव हमें जरूर दे. जिससे हम इस पोस्ट में आपके सुझाव से कुछ आवश्यक बदलाव कर सके।

और आपको ये माउस से जुडी जानकरी आपको अच्छी लगी हो तो आप इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ भी शेयर करे जिससे आपके दोस्तों को भी माउस के बारे में पूरी जानकरी मिल सके।


Example Site - Frequently Asked Questions(FAQ)

Post a Comment

Previous Post Next Post